scorecardresearch
सिल्कयारा सुरंग हादसे में जल्द आ सकती है अच्छी खबर, एंबुलेंस से लेकर बेड तक तैयारी पूरी

सिल्कयारा सुरंग हादसे में जल्द आ सकती है अच्छी खबर, एंबुलेंस से लेकर बेड तक तैयारी पूरी

उत्तरकाशी में सिल्कयारा टनल के पास पर्याप्त संख्या में एंबुलेंस मौजूद हैं ताकि श्रमिकों को बाहर निकालने के बाद उन्हें तुरंत मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई जा सके. एंबुलेंस के लिए बाहर ग्रीन कॉरिडोर तैयार किया गया है.

advertisement

उत्तरकाशी में सिल्कयारा टनल हादसे में जल्द ही अच्छी खबर आ सकती है. क्योकि सुरंग के अंदर फंसे सभी 41 मजदूरों को निकालने की तैयारी पूरी हो चुकी है. सुरंग में खुदाई का काम पूरा हो चुका है. उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने इस बात की जानकारी दी है कि सुरंग में खुदाई का काम पूरा हो चुका है और जल्द ही सभी मजदूरों को बाहर निकालने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. श्रमिकों को निकालने के लिए दो मोर्चों पर खुदाई की जा रही थी. हॉरिजोंटल औऱ वर्टिकल दोनों स्तर पर खुदाई की जा रही थी. एएनआई से मिल रहे ताजा अपडेट के मुताबिक यहां पर श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए सभी तैयारी पूरी हो चुकी है. 

सुरंग स्थल से आ रही ताजा तस्वीरों में साफ देखा जा रहा है कि टनल के बाहर एंबुलेंस की लाइन लगी हुई है. पर्याप्त संख्या में यहां पर एंबुलेंस की लाए गए हैं ताकि श्रमिकों को बाहर निकालने के बाद उन्हें तुरंत मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई जा सके. इसके साथ ही एंबुलेंस के लिए बाहर ग्रीन कॉरिडोर तैयार किया गया है. उल्लेखनीय है कि एक ओर पहाड़ के ऊपर से वर्टिकल ड्रिलिंग की जा रही है. जबकि सुरंग के भीतर से रैट माइनर की टीम मैन्युअल ड्रिलिंग के जरिए मजदूरों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.  माना जा रहा है कि अगर कोई बाधा नहीं आई तो जल्द ही श्रमिकों को बाहर निकाल लिया जाएगा. 

ये भी पढ़ेंः Onion Subsidy: किसानों को कब मिलेगी प्याज सब्सिडी, सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश तेज

अस्पताल में बेड हैं तैयार

सुरंग के बाहर पहुंचे फंसे हुए श्रमिकों के परिजनों ने कहा कि हम उम्मीग कर रहे है कि जल्द ही सभी श्रमिकों को बाहर निकाल लिया जाएगा. हम बेहद खुश हैं कि वो जल्द ही बाहर निकल जाएंगे. साथ ही कहा उन्होंने अंदर फंसे हुए श्रमिकों से बात की है और बताया कि जल्द ही बचाव दल के लोग उनके पास पहुंच जाएंगे. इधर उत्तरकाशी में सिलक्यारा सुरंग से बाहर निकाल कर लाए गए श्रमिकों को तत्काल मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य चिन्यालीसौड़ में तैयारियां पूरी हो गई हैं. बेड तैयार है. 

ये भी पढ़ेंः डब्ल्यूटीओ की बैठक में कई सवालों का सामना करेगा भारत, जान‍िए क्या है पूरा मामला 

अब तक यह काम हुआ पूरा

गौरतलब है कि आज सुबह तक रैट माइनर्स ने करीब 1.6 मीटर सुरंग खोद ली थी. रैट माइनर्स जैसे-जैसे सुरंग खोद रहे हैं वैसे-वैसे औगर मशीन से 800 मिमी व्यास के पाइप को भीतर धकेला रहा है. सुरंग के कुल 9 से 12 मीटर को मैनुअल तरीके से कटिंग किया जाना था. मैनुअल ड्रिलिंग के साथ साथ वर्टिकल ड्रिलिंग का काम भी पूरी रफ्तार से आगे बढ़ रहा है..टनल में वर्टिकली 86 मीटर की खुदाई होनी है.  31 मीटर तक वर्टिकल ड्रिलिंग पूरी कर ली गई है. जबकि 8 एमएम का पाइप 70 मीटर तक ड्रिल किया गया है. ये पाइप भी वर्टिकल ड्रिलिंग के तहत लाइफलाइन के लिए डाला जा रहा है.