scorecardresearch
किसानों का दिल्ली कूच: नोएडा आसपास के बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ी, सीसीटीवी और ड्रोन से हो रही निगरानी

किसानों का दिल्ली कूच: नोएडा आसपास के बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ी, सीसीटीवी और ड्रोन से हो रही निगरानी

किसान पश्चिम उत्तर प्रदेश से नोएडा बॉर्डर के जरिए दिल्ली में प्रवेश की कोशिश कर सकते हैं. ऐसे में QRT टीम के साथ नोएडा पुलिस और पीएसी के जवानों को भी दिल्ली से जोड़ने वाले सभी बॉर्डर पर तैनात किया जा रहा है. नोएडा पुलिस ने अपील की है कि 13 फरवरी से 16 फरवरी तक आवाजाही के लिए ज्यादा मेट्रो का ही उपयोग करें.

advertisement

किसानों के दिल्ली कूच आह्वान के बाद हरियाणा पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली जाने की तैयारी में हैं. ऐसे में दिल्ली से जोड़ने वाले नोएडा के सभी बॉर्डर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है. जिले में जगह-जगह सभी बॉर्डर पर पुलिस कर्मी के साथ QRT और PAC को तैनात किया जा रहा है. साथ ही ड्रोन कैमरा और सीसीटीवी कैमरों से बॉर्डर वाले इलाकों में निगरानी की जा रही है. दरअसल अपनी मांगों को लेकर किसान दिल्ली कूच की तैयारी में हैं. ऐसे में नोएडा पुलिस नोएडा-दिल्ली से जोड़ने वाले किसी भी बॉर्डर पर कोई कोताही नहीं बरतना चाहती है. यही वजह है कि आज से ही बैरिकेडिंग के साथ भारी पुलिस फोर्स को सभी बॉर्डर पर तैनात कर दिया गया है. 

किसान आंदोलन को देखते हुए नोएडा पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया गया है. साथ ही ट्रैफिक पुलिस एक व्यापक ट्रैफिक एडवाइजरी जारी करने वाली है. इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस ने 500 ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को बॉर्डर और उसके आसपास के इलाकों में तैनात कर दिया है. सभी बॉर्डर पर सीसीटीवी के साथ ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही है.

किसान पश्चिम उत्तर प्रदेश से नोएडा बॉर्डर के जरिए दिल्ली में प्रवेश की कोशिश कर सकते हैं. ऐसे में QRT टीम के साथ नोएडा पुलिस और पीएसी के जवानों को भी दिल्ली से जोड़ने वाले सभी बॉर्डर पर तैनात किया जा रहा है. नोएडा पुलिस ने अपील की है कि 13 फरवरी से 16 फरवरी तक आवाजाही के लिए ज्यादा मेट्रो का ही उपयोग करें. बताया जा रहा है कि दिल्ली जाने वाले कमर्शियल वाहनों पर रोक लगाई गई है क्योंकि दिल्ली पुलिस ने ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की है.

ऐसे में नोएडा पुलिस दिल्ली जाने से पहले ही कमर्शियल गाड़ियों को दूसरे रास्तों से मोड़ देगी. किसान 13 फरवरी को दिल्ली कूच का प्लान बना रहे हैं. इसके अलावा 16 फरवरी को भारत बंद का आह्वान कर चुके हैं. ऐसे में पुलिस लगातार एक्टिव नजर आ रही है. आज नोएडा पुलिस द्वारा डीएनडी बॉर्डर, कालिंदी कुंज बॉर्डर और अन्य सभी बॉर्डर पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है और संदिग्ध वाहनों की चेकिंग की जा रही है.

ये भी पढ़ेंः Kisan Andolan: दिल्ली में 12 मार्च तक धारा 144 लागू, इन गतिविधियों पर लगा प्रतिबंध

नोएडा में भी किसानों का प्रदर्शन

बता दें कि इसके अलावा नोएडा में भी तीन जगह पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. नोएडा प्राधिकरण, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और NPTC के खिलाफ़ किसान लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे इन 144 गांव के किसानों ने चार दिन पहले ही दिल्ली कूच की कोशिश की थी, जिन्हें पुलिस ने नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर रोक दिया. इस कारण करीबन 6 घंटे तक एक्सप्रेसवे बंद था. वही पुलिस कमिश्नर और डीएम ने किसानों से मीटिंग कर 11 फरवरी तक का समय मांगा था. उसके बाद ही हाई पावर कमेटी बनाने की बात कही गई थी. तारीख निकलने के बाद किसान दोबारा दिल्ली जाने की तैयारी कर सकते हैं. इसलिए पुलिस पूरी तरह अलर्ट मोड पर है.

ये भी पढ़ेंः Explainer: क्या है MSP Guarantee कानून जिसके लिए दिल्ली में मोर्चा ले रहे हैं किसान? एमएसपी का पूरा गणित समझिए 

ट्रैफिक पुलिस की व्यापक तैयारी

ट्रैफिक डीसीपी अनिल यादव ने जानकारी देते हुए कहा कि ट्रैफिक पुलिस द्वारा व्यापक रूप से तैयारी की जा रही है. सभी बॉर्डर पर QRT के साथ 500 ट्रैफिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. सीसीटीवी कैमरों और ड्रोन कैमरों से निगरानी की जा रही है. एक ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी की जाएगी. इसके अलावा सुरक्षा में किसी तरह की चूक नहीं हो, इसे देखते हुए ड्रोन कैमरों से निगरानी की जा रही है. साथ ही सीसीटीवी कैमरों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है.