scorecardresearch
advertisement

महाराष्ट्र News

कपास का मंडी भाव

Cotton Price:  महाराष्ट्र में एमएसपी से अधिक हुआ कपास का दाम, जानिए प्रमुख मंडियों का रेट

Apr 24, 2024

किसानों को उम्मीद है कि इस साल कपास का दाम 10000 रुपये प्रति क्विंटल तक पहुंच सकता है. औरंगाबाद के फुलंब्री मंडी में 22 अप्रैल को आवक कम होने के बाद दाम ऊपर चढ़ गए. 

प्याज़ का मंडी भाव

Onion Price: रायगढ़ जिले की पेण मंडी में प्याज के दाम ने बनाया रिकॉर्ड, 26 रुपये किलो हुआ भाव

Apr 23, 2024

22 अप्रैल को रायगढ़ जिले की पेण मंडी में प्याज का न्यूनतम दाम भी 24 और अधिकतम दाम 26 रुपये किलो रहा. जबकि प्याज की आवक 399 क्विंटल हुई थी. उधर, 23 अप्रैल को पुणे-पिम्परी में न्यूनतम दाम 14 रुपये किलो रहा. कई मंडियों में न्यूनतम दाम 10 से 12 रुपये क्विंटल तक पहुंच गया है, जिससे किसानों को थोड़ी राहत मिली है.

सोयाबीन का मंडी भाव

Soybean Price: लासलगांव मंडी में 3000 रुपये क्विंटल रह गया सोयाबीन का भाव, 4600 रुपये क्विंटल है MSP

Apr 22, 2024

महाराष्ट्र की कई मंडियों में सोयाबीन की कीमत सिर्फ 3000 रुपये क्विंटल रह गई है. जबकि इसका न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 4600 क्विंटल है. इसका मतलब यह है कि कुछ किसान करीब 1600 रुपये क्विंटल के भारी घाटे पर इस साल सोयाबीन बेच रहे हैं.

जानिए प्याज़ का मंडी भाव

Onion Price: महाराष्ट्र की राहुरी मंडी में किसानों को सिर्फ एक रुपया किलो बेचना पड़ा प्याज, उम्मीदों पर फिरा पानी

Apr 22, 2024

अहमदनगर की राहुरी मंडी में 21 अप्रैल को काफी किसानों ने मजबूरी में सिर्फ एक रुपये किलो के दाम पर प्याज बेचा. जबकि किसानों का दावा है कि लागत 15 से 20 रुपये किलो तक आती है. इसी प्रकार छत्रपती संभाजीनगर में किसानों ने सिर्फ 1.5 रुपये किलो के रेट पर प्याज बेचा. किसानों का कहना है कि उन्हें तब तक प्याज का सही दाम नहीं मिलेगा जब तक कि सरकार निर्यात बंदी को नहीं खोलेगी. 

किसानों को नहीं मिल रहा है सोयाबीन और सरसों का दाम

महाराष्ट्र में सिर्फ 3600 रुपये क्विंटल बिक रही है सरसों, सोयाबीन का दाम मात्र 3000 रुपये

Apr 19, 2024

राज्य की कई मंडियों में दोनों फसलों का दाम एमएसपी से कम चल रहा है. जबकि खाद्य तेलों का आयात हो रहा है. किसानों का कहना है कि जिन फसलों का दाम ज्यादा होना चाहिए था उनका दाम एमएसपी से भी बहुत कम मिल रहा है.

मंडी में बढ़ी प्याज़ की आवक

महाराष्ट्र की मंडियों में बढ़ी प्याज की आवक, गिर गए दाम, जानिए क्या है वजह?

Apr 19, 2024

अब किसान रबी सीजन के प्याज की भी मंडियों में आवक बहुत तेजी से बढ़ने लगी है. जबकि रबी सीजन का प्याज स्टोर किया जा सकता है. जिन किसानों के पास प्याज के स्टोरेज की व्यवस्था नहीं है और उन्हें अगले सीजन की खेती करने के लिए पैसे की सख्त जरूरत है, वह इस टाइम मजबूरी में मंडियों में बेचने के लिए प्याज लेकर आ रहे हैं.

जानिए अल्फांसो आम का मार्केट भाव

Alphonso Mango Price: आमों के राजा अल्फांसो की बंपर आवक, जानिए किसानों को कितना मिल रहा दाम

Apr 18, 2024

किसानों को मिलने वाले दाम की बात करें तो नाशिक मंडी में 17 मार्च को न्यूनतम दाम 20000, अधिकतम 45000 और औसत दाम 35000 रुपये क्विंटल रहा. दूसरी ओर मुंबई फ्रूट मार्केट में 16 मार्च को आवक बहुत अधिक होने के कारण किसानों को मिलने वाला न्यूनतम दाम 12000 और अधिकतम 25000 रुपये क्विंटल रहा.

 चने का मंडी भाव

Gram Price: किसानों की बल्ले-बल्ले, 7000 रुपये क्विंटल तक पहुंचा चने का दाम

Apr 18, 2024

राज्य की अधिकांश मंडियों में इस समय दाम 6000 से 7400 रुपये प्रति क्विंटल तक है, जबकि इस साल के लिए चने का एमएसपी 5440 रुपये क्विंटल है. इसलिए किसानों की बल्ले-बल्ले है. इस बार जिन्होंने चने की खेती की है उन्हें अच्छा मुनाफा मिल रहा है. चने का सबसे बड़ा उत्पादक मध्य प्रदेश है जबकि दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र आता है.

कपास का मंडी भाव

Cotton Price: कपास की खेती करने वाले क‍िसानों की उम्मीदों पर फ‍िरा पानी, जान‍िए क‍ितना म‍िल रहा है दाम

Apr 17, 2024

महाराष्ट्र प्रमुख कॉटन उत्पादक राज्य है. किसानों का कहना है कि वो अब कम दामों में कपास बेचने के लिए मजबूर हैं क्योंकि डर है क‍ि अच्छे दाम के इंतजार में कहीं लंबे समय से रखा गया स्टॉक खराब न हो जाए. इस साल आख‍िर क‍िन कारणों से क‍िसानों को कपास का कम दाम म‍िल रहा है. 

प्याज़ का मंडी भाव

Onion Price: महाराष्ट्र की इस मंडी में स‍िर्फ 1 रुपये क‍िलो रह गया प्याज का दाम, जान‍िए क्या है वजह?

Apr 17, 2024

क‍िसानों का आरोप है क‍ि निर्यात बंदी की वजह से ही देश की कई मंड‍ियों में प्याज के दाम इस समय अपने निचले स्तर पर आ गए हैं. खास तौर पर महाराष्ट्र में, क्योंकि यह देश का सबसे बड़ा प्याज उत्पादक राज्य है और यहां कई जिलों में किसानों की आजीविका सिर्फ प्याज की खेती पर निर्भर रहती है.  

महुआ के उत्पादन में आई गिरावट

महाराष्ट्र में महुआ उत्पादन में भारी गिरावट, क्लाइमेट चेंज से गिरी पैदावार

Apr 16, 2024

इस साल क्लाइमेट चेंज के कारण महुआ उत्पादन में भारी गिरावट आई है. इसलिए किसानों की कमाई कम हो सकती है. किसान और मजदूर सुबह-सुबह घने अंधेरे में खेतों और जंगली इलाकों में महुआ के पेड़ों से फूल इकट्ठा करने के लिए अपनी जान की बाजी लगा रहे हैं. लेकिन मार्च महीने से बदलते मौसम के कारण फूलों के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की कमी के कारण इस वर्ष उत्पादन में कमी आई है

अब हापुस आम में लगेंगे क्यूआर कोड

अब क्यूआर कोड के साथ बिकेगा यह आम, नक्कालों पर नकेल कसने की तैयारी

Apr 16, 2024

महाराष्ट्र के कोंकण में हापुस आमों को व्यापारी कर्नाटक के आमों को अपने नाम से बेचने का प्रयास कर रहे हैं. इसे देखते हुए कोंकण हापुस मैंगो ग्रोअर्स एंड ग्रोअर्स सेलर्स को-ऑपरेटिव सोसाइटी ने किसानों के लिए क्यूआर कोड पेश क‍िया है. ये क्यूआर कोड बताते हैं कि उपभोक्ताओं को असली हापुस आम ही मिलेगा.

कपास का मंडी भाव

Cotton Price: महाराष्ट्र में कपास के दाम में आई गिरावट, जानिए प्रमुख मंडियों का भाव

Apr 16, 2024

मौड़ा मंडी में कपास का न्यूनतम दाम 6000, अध‍िकतम दाम 7701 और औसत दाम 7340 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल मिल रहा है. राज्य की कई मंडियों में कॉटन का का दाम 6000 से लेकर 7000 रुपये प्रत‍ि क्व‍िंटल चल रहा है.कपास का उचित भाव नहीं मिलने से किसान चिंतित हैं.

बेमौसम बारिश से किसानों को हुआ नुकसान

नांदेड़ में बेमौसम बरसात से फसलों को हुआ नुकसान, मुआवजे की मांग कर रहे किसान

Apr 14, 2024

महाराष्ट्र के कई जिलों में हुई बेमौसम बारिश के कारण फसलों को काफी नुकसान हुआ है. सबसे अधिक नुकसान फलों और सब्जियों की खेती करने वाले किसानों को हुआ है, जबकि इस बारिश के कारण ज्वार की खेती करने वाले किसान भी प्रभावित हुए हैं.किसानों को हुए नुकसान को देखते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को जल्द नुकसान का पंचनामा करने के आदेश दिए हैं.

कृषि मंत्री धनंजय मुंडे

बेमौसम बार‍िश और ओलावृष्ट‍ि से खराब हुई फसलों को देखने पहुंचे मंत्री, मुआवजे को लेकर कही बड़ी बात 

Apr 13, 2024

प्राकृत‍िक आपदा से महाराष्ट्र के 11 जिलों में फसलों को नुकसान पहुंचा है, ज‍िससे क‍िसान परेशान हैं. अकेले अमरावती जिले में 40,000 हेक्टेयर में फैले संतरे, आम और केले सहित कई फसलों और फलों को गंभीर नुकसान हुआ है. अकोला के 74 गांवों में चार हजार हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में फैली फसलें खराब हुई हैं. 

बारिश में फसल हुई खराब

महाराष्ट्र में बार‍िश ने बढ़ाई क‍िसानों की मुसीबत, फसलों को बड़े पैमाने पर हुआ नुकसान

Apr 12, 2024

बार‍िश से अकोला जिले में 4060 हेक्टेयर फसल बर्बाद हुई है. इसमें सबसे अधिक पातुर तालुका में 24 गांवों की 2866 हेक्टेयर भूमि में फसलें क्षतिग्रस्त हुई हैं. तेल्हारा तालुका में 1000 हेक्टेयर और बालापुर में 250 हेक्टेयर में प्याज, ज्वार, सब्जियां, आम, नींबू, पपीता, केला, गेहूं, तरबूज-तरबूज जैसी विभिन्न फसलों को नुकसान हुआ है. 

प्याज़ का मंडी भाव

इंटरनेशनल मार्केट में 100 रुपये क‍िलो है प्याज का दाम, क‍िसानों को म‍िल रहा 3 से 15 रुपये का भाव 

Apr 11, 2024

सरकार ने 7 द‍िसंबर की रात न‍िर्यातबंदी कर दी थी. न‍िर्यातबंदी 31 मार्च 2024 तक के ल‍िए लागू की गई थी लेक‍िन सरकार ने अब इसे अन‍िश्च‍ितकाल के ल‍िए आगे बढ़ा द‍िया है. क‍िसानों का कहना है क‍ि अब उन्हें उम्मीद नहीं है क‍ि रबी सीजन के प्याज को ठीक दाम पर बेच पाएंगे. 

आम बेचने के लिए किसानों ने किया जामुन का इस्तेमाल

बेशकीमती आमों को बंदरों से बचाने के लिए किया जामुन का इस्तेमाल, चौंका देगा ये जुगाड़ू तरीका

Apr 10, 2024

जामुन के कई तरह के इस्तेमाल अब सामने आ रहे हैं. इसमें सबसे बड़ा उपयोग कीटनाशक के साथ-साथ जंगली जानवरों से बचाव भी शामिल है. इसी में गोवा के किसान ने भी जामुन का अनोखा प्रयोग किया. इस किसान ने अपने जामुन के पेड़ पर जामुन छोड़ दिए क्योंकि यह सीजन जामुन का नहीं होता है.

प्याज़ का मंडी भाव

Onion Price: प्याज की निर्यातबन्दी ने किसानों की उम्मीदों पर फेरा पानी, जानिए किस मंडी में कितना है दाम

Apr 10, 2024

चार महीने बाद भी प्याज की निर्यातबन्दी खत्म न होने गुस्से में हैं महाराष्ट्र के किसान. महाराष्ट्र देश का सबसे बड़ा प्याज उत्पादक है. किसानों ने कहा कि 60 प्रतिशत तक गिर गए हैं दाम. संगठन ने सरकार से पूछा क्या कृषि उपज का दाम कम करके किसानों की डबल होगी आय?